16 सितंबर, 2018 को फ्लोरियाना, माल्टा में भारतीय समुदाय के स्वागत समारोह में भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू द्वारा दिया गया भाषण

माल्टा | सितम्बर 16, 2018

"आप सभी को नमस्कार। मैं आपके लिए भारत से हार्दिक बधाई लाया हूं।

मैं आप सभी को मेरा और मेरे प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों का इस तरह की गर्मजोशी से और स्नेह के साथ स्वागत करने के लिए धन्यवाद देता हूँ । माननीय वित्त राज्य मंत्री श्री शिव प्रताप शुक्ला और संसद के उच्च सदन(राज्यसभा) के माननीय सदस्यों श्री प्रसन्न आचार्य, श्रीमती विजिला सत्यानंत और सुश्री सरोज पाण्डेय तथा संसद के निचले सदन (लोकसभा) के माननीय सदस्य श्री राघव लखनपाल मेरे साथ हैं। मुझे वेलेटा के इस खूबसूरत और ऐतिहासिक शहर में आकर प्रसन्नता हो रही है। मेरा और मेरे प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों का गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए मैं माल्टा सरकार का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। यात्रा के दौरान मैं माल्टा के राष्ट्रपति, माल्टा के प्रतिनिधि सभा के माननीय अध्यक्ष, माल्टा के वर्तमान प्रधानमंत्री और विपक्ष के नेता के साथ उपयोगी बातचीत की उम्मीद करता हूं। यात्रा के दौरान मुझे भारत-माल्टा बिजनेस फोरम को संबोधित करने का अवसर भी मिलेगा।

बहनों और भाइयों,

इस प्रतिष्ठित सभा में आप में से कुछ पेशेवर, शोधकर्ता, छात्र या व्यवसायी हैं। आप में से कुछ दशकों पहले इस देश में आए होंगे, आप में से कुछ केवल कुछ साल पहले ही यहाँ आए होंगे। मुझे बहुत प्रसन्नता है कि आप माल्टा समाज में एकीकृत हो गए हैं और आपने फार्मास्यूटिकल्स, सूचना प्रौद्योगिकी, और स्वास्थ्य देखभाल और पर्यटन सेवा उद्योग जैसे क्षेत्रों में आपने मूल्यवान योगदान दिया है।

यह आश्चर्य की बात नहीं है कि विशाल और बढ़ते भारतीय प्रवासी हर जगह इतना अच्छा कर रहे हैं। हम में से प्रत्येक के भीतर अनिवार्य भारतीयपन के अदृश्य सामान्य धागे हैं। हमारे लिए पूरी दुनिया वस्तुतः एक विशाल परिवार है। न तो भौगोलिक सीमाएं और न ही भाषाई और सांस्कृतिक अंतर हमें सीमित करते हैं । हम अच्छे विचारों को सीखते हैं और उनकी सराहना करते हैं चाहे वे जहां से भी आए हों । हमारे प्राचीन संतों ने कहा है, "अच्छे विचारों को सभी ओर से हमारी ओर आने दें ।"

मुझे यह जानकर खुशी है कि भारतीय समुदाय शांतिप्रिय होने और स्थानीय पर्यावरण को आत्मसात करने में सक्षम होने संबंधी प्रतिष्ठा का आनंद लेता है। आप निवेश, ज्ञान हस्तांतरण और परोपकार के कार्यों से जुड़ाव के माध्यम से माल्टा के सामाजिक आर्थिक विकास में योगदान कर रहे हैं हैं और जहां बसे हैं वहाँ के देशों में भारतीय वस्तुओं की मांग को उत्प्रेरित कर रहे हैं।

बहनों और भाइयों,

मुझे बहुत गर्व महसूस होता है कि मैं एक ऐसे भारत का प्रतिनिधित्व करता हूं जो एक परिवर्तनकारी आंदोलन के केंद्र में है।

मुझे आपको यह सूचित करने में प्रसन्नता हो रही है कि भारत एक अभूतपूर्व आर्थिक और सामाजिक परिवर्तन के दौर में है। अर्थव्यवस्था स्थिर गति से आगे बढ़ रही है और व्यवस्थित शासन में व्यवस्थित सुधार अधिक समावेशी समाज का निर्माण कर रहे हैं।

भारत इस वर्ष विश्व बैंक के इज़ ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में 30 स्थान ऊपर आ गया है और आईएमएफ ने भविष्यवाणी की है कि अन्य प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं से आगे जाकर भारत 2018 और 201 9 में 7 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर से विकास करेगा।

भारत सरकार द्वारा कई आर्थिक सुधार किए गए हैं जिनमें अर्थव्यवस्था का डिजिटलीकरण, वित्तीय समावेशन, माल और सेवा कर (जीएसटी) जैसे कर सुधार शामिल हैं। पिछले चार वर्षों में 326 मिलियन से अधिक लोगों ने बैंक खाते खोले हैं और वित्तीय समावेशन को वास्तविकता बना दिया है। कर आधार बढ़ गया है और कर अनुपालन में वृद्धि हुई है।

भारत तेजी से अपने बुनियादी ढांचे का विस्तार कर रहा है। उदाहरण के लिए वर्ष 2017-18 के दौरान 9829 किलोमीटर से अधिक लंबे राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण किया गया था जबकि इससे पिछले वर्ष के दौरान 8231 किमी लंबे राष्ट्रीय राजमार्गों का ही निर्माण हुआ था ।

भारतीय सरकार द्वारा की गई नीतिगत पहलों जैसे मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्मार्ट सिटीज और स्टार्ट-अप इंडिया नए अवसर पैदा कर रही है।

भारत एक सक्षम इको सिस्टम बना रहा है जो विकास को बढ़ावा देगा, युवाओं को कुशल बनाएगा, उद्यमिता को प्रोत्साहन देगा। भारत आज उन लोगों के लिए अवसर की एक यथार्थ भूमि है जो जुड़ना चाहते हैं, नवाचार करना करना चाहते हैं, व्यापार करना चाहते हैं और निवेश करना चाहते हैं।

भारत एक सूचना प्रौद्योगिकी क्रांति को आरंभ करने में योगदान दे रहा है और इसका साक्षी बन रहा है जो सरकार द्वारा अपने नागरिकों के साथ जुड़ने के तरीके को बदल रहा है। एक ऐसी क्रांति जो डिजिटल आधारभूत संरचना पर निर्भर करती है जो इन्फॉर्मेशन हाइवे पर सूचना, नवाचार और विचारों के मुक्त प्रवाह की अनुमति देती है।

प्रिय बहनों और भाइयों,

हमने नागरिकों को किफायती और समग्र स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने का भी लक्ष्य निर्धारित किया है और इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए हमने विश्व का सबसे बड़ा और भारत का सबसे महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम, आयुष्मान भारत - राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन शुरू किया है,जिसकी घोषणा 2018 के हमारे केंद्रीय बजट में की गई थी और इस वर्ष 15 अगस्त को हमारे प्रधान मंत्री ने भी इसे दोहराया । यह योजना 100 मिलियन परिवारों को स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान करेगी।

भारत ऊर्जा के क्षेत्र में अग्रणी बन गया है, और हमने 175 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा का लक्ष्य निर्धारित किया है। हमने इस साल मार्च में दिल्ली में अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन की स्थापना के सम्मेलन की मेजबानी की। यह विश्व भर में सौर ऊर्जा परियोजनाओं को वित्त पोषित करने की सबसे बड़ी प्रतिबद्धताओं में से एक है।

हम 800 मिलियन युवाओं की जनसंख्या वाला एक युवा राष्ट्र हैं। यह जनसांख्यिकीय लाभ जनसांख्यिकीय लाभांश में परिवर्तित किया जा रहा है। हम 'स्किल इंडिया' कार्यक्रम के माध्यम से इस महत्वाकांक्षी, युवा जनसंख्या की क्षमता में सुधार कर रहे हैं।

बहनों और भाइयों,

आप भारत में माल्टा का और माल्टा में भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं और हमारे संबंधों को जोड़ने और विकसित करने में आपकी भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है।

भारत के विभिन्न भागों से माल्टा में आपकी मौजूदगी भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विविधता के बारे में जागरूकता पैदा करने में और भारतीय संगीत, कला, नृत्य और अन्य विरासत जैसे योग और आयुर्वेद के संदेश को माल्टा के हमारे मित्रों तक ले जाने में मदद करती है।

एक पुनरुत्थानशील भारत आपकी प्रतीक्षा कर रहा है। हमने भारत के साथ आपके संपर्क की बाधाओं को दूर करने के लिए कई कदम उठाए हैं। प्रवासी भारतीयों के लिए उपलब्ध रहना और यह सुनिश्चित करना कि हमारी सरकार और आप के बीच संपर्क सहज और अनुभव सुखद बना रहे, हमारा संकल्प रहा है। मुझे यकीन है कि आप 2015 में आरंभ की गई भारत की ई-वीजा योजना का लाभ उठा रहे हैं जिसे पिछले वर्ष व्यापार, पर्यटन और स्वास्थ्य उद्देश्यों के लिए और उदार बना दिया गया है।

भारतीय मूल के विदेशियों के ठहराव को भारत में सुगम बनाने के लिए हम ओसीआई कार्ड प्रदान करते हैं। मैं आपको इस योजना में शामिल होने और इसके अंतर्गत प्रदान की गई सुविधाओं का आनंद लेने और अपने मूल देश और अपने पूर्वजों के देश के साथ जुड़ाव को मजबूत करने के लिए प्रोत्साहित करता हूं।

हमारे विशाल प्रवासी भारतीय लोगों के समूह से जुड़ने और अपना ज्ञान, विशेषज्ञता और कौशल एक आम मंच पर लाने के लिए हमने नई दिल्ली में प्रवासी भारतीयों के लिए वन स्टॉप रिसोर्स सेंटर के रूप में 'प्रवासी भारतीय केंद्र' की नई सुविधा शुरू की है। जब भी आप भारत आयें तो आपको इसे देखना चाहिए। हमारी सरकार हमारे प्रवासी भारतीय युवाओं को एक साथ लाने और उन्हें भारत से परिचित करने के लिए एक विशेष कार्यक्रम 'भारत को जानें कार्यक्रम' भी चलाती है ।

इस प्रकार भारत सरकार और लोगों को आपकी उपलब्धियों पर गर्व है। माल्टा में एक भारतीय उच्चायोग खोलने का निर्णय आप सभी से जुड़ने की इच्छा से लिया गया है।

आपके साथ जुड़ना मेरे लिए खुशी और सौभाग्य की बात रही है। आपमें से प्रत्येक प्रवासी भारतीय सदस्य ने अपनी उपलब्धियों, आपको अपनाने वाले देश में आपकी स्वीकृति और आपके द्वारा अपनाए गए समाज के विकास में आपके सर्व-स्वीकृत योगदान से हमें गौरवान्वित किया है।

आप माल्टा में भारत का चेहरा हैं और जिनसे आप बात करते हैं उनके समक्ष भारत का मन और हृदय हैं।

आप उस सार्वभौमिक दृष्टिकोण के उत्तराधिकारी हैं जिसकी व्याख्या भारत प्राचीन काल से कर रहा है। आप भारत के विकास में तेजी लाने के लिए नए ज्ञान, कौशल और मनोवृत्ति लाने वाले भारत के मूल्यवान मानव संसाधन हैं।

आज यहां उपस्थित रहने और मेरा इतने गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए मैं आप सभी का एक बार पुनः धन्यवाद करता हूं।

माल्टा और भारत को करीब लाने, एक साथ विकास करने और समृद्ध भविष्य साझा करने के आपके प्रयासों के लिए मैं आपको शुभकामनाएं देता हूं।

जय हिन्द।