एकता और अखंडता हमारे देश की ताकत है: उपराष्ट्रपति। भारत के उपराष्ट्रपति की राष्ट्रीय सांप्रदायिक सदभाव प्रतिष्ठान के सदस्यों के साथ बातचीत

नई दिल्ली
नवम्बर 24, 2017

भारत के उपराष्ट्रपति, श्री एम. वेकैया नायडू ने कहा है कि एकता और अखंडता हमारे देश की ताकत है। वह आज यहां राष्ट्रीय सांप्रदायिक सद्भाव प्रतिष्ठान के प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों के साथ बातचीत कर रहे थे, जिन्होंने 'सांप्रदायिक सदभाव अभियान सप्ताह' के अवसर पर उन्हें फ्लैग स्टिकर' भेंट किया।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि हमें अपने पूर्वजों से मिली हमारी मातृभूमि की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की रक्षा करनी है और उसका अनुकरण करना है। उन्होंने आगे कहा कि हमारी संस्कृति विश्व की कई अन्य संस्कृतियों से अधिक प्राचीन है। उन्होंने यह भी कहा कि भिन्न-भिन्न जाति, पन्थ, मूलवंश अथवा धर्म से होने के बावजूद हम सब एक हैं।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि हम भारत के 'वसुधैव कुटुम्बकम' के दर्शन में विश्वास रखते हैं जिसका आशय है 'विश्व एक परिवार है'। उन्होंने यह भी कहा कि यह हमारा ही देश है जिसने सबके कल्याण के लिए प्रार्थना की - "सर्वे जना: सुखिनो भवन्तु"। उन्होंने यह भी कहा कि हमने ही मानवता को करूणा, सहिष्णुता और सार्वभौमिक भाईचारे का उचित मार्ग दिखाया है।

उपराष्ट्रपति ने छात्रों को शुभकामनाएं दीं।

Is Press Release?: 
1